1 ‘मोमो’ के लिए ‘महायुद्ध’, चले ईंट-पत्थर, फोर्स साथ APC और DCP लॉ एंड ऑर्डर को संभालना पड़ा मोर्चा

  • एक मोमो ने करा दिया पथराव.

  • तैनात करनी पड़ी पीएसी.

  • यहां का है मामला.

आपने बड़े-बड़े झगड़ों के बारे में सुना होगा। लोग किसी न किसी वजह से अक्सर झगड़ा करते ही रहते है। इन झगड़ों की वजहें भी उतनी ही बड़ी होती हैं। लेकिन, यूपी के वाराणसी में एक ऐसा मामला सामने आया है। जिसके बारे में सुनकर आपका सिर चकराने लगेगा कि क्या कोई इतनी छोटी बात के लिए भी झगड़ा कर सकता है? झगड़ा भी कोई छोटा-मोटा नहीं। ऐसा झगड़ा, जिसमें दो गुट बन गए। दोनों ओर से जमकर ईंट-पत्थर चले। मार-पीट हुई। आधे घंटे के इस युद्ध में लोग घायल हो गए।

यह घटना आदमपुर थाना क्षेत्र के कोनिया इलाके की है। यहां संडे को महज एक मोमो के लिए झगड़ा हो गया। अब आप सोच रहे होंगे कि वो मोमो कोई आम मोमो तो नहीं रहा होगा। लेकिन, आप गलत सोच रहे हैं। वह भी उसी मोमो की तरह था, जिसे आप रोज खाते हैं। एक मोमो के दो पक्षों के लोग आमने-सामने आ गए। दोनों पक्षों में ईंट-पत्थर चलने से क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। कई चोटिल हो गए।

मोमो बेचने वाले समेत तीन लोगों को चोट आई है। हालात काबू में करने के लिए जैतपुरा, सारनाथ, कोतवाली और आदमपुर थानों की फोर्स बुलाई गई। स्थिति संभालने के लिए अपर पुलिस आयुक्त कानून-व्यवस्था चिनप्पा शिवसिम्पि और डीसीपी काशी जोन आरएस गौतम को भारी पुलिस फोर्स के साथ मोर्चा संभीलना पड़ा। पुलिस को उपद्रवी भाग निकले। घटनास्थल पर पीएसी तक को तैनात करना पड़ा।

विजईपुरा चौराहे के पास करन नाम का युवक मोमो की दुकान लगाता है। खजुरिया का रहने वाला टोटो चालक अरुण राजभर मोमो खरीदने पहुंचा। मोमो लेने के दौरान एक टुकड़ा जमीन पर गिर गया। इसी मामूली सी बात को लेकर तू-तू, मैं-मैं होने लगी। वहां मौजूद लोगों ने टोटो चालक अरुण राजभर की पिटाई कर दी।

कुछ देर बाद वो अपने साथ कई लोगों को लेकर मोमो की दुकान पर धमका। दूसरे पक्ष के लोग भी सामने आ गए। देखते ही देखते पत्थरबाजी होने लगी। बाजार निकले लोग इधर-उधर गलियों और घरों में बचने के लिए भागते नजर आए।

शेयर करें !
posted on : October 23, 2023 11:45 am