posted on : दिसंबर 5, 2022 2:37 pm
शेयर करें !

उत्तर प्रदेश के भागीरथी पर्यटक आवास गृह का CM योगी और धामी ने किया लोकार्पण, उत्तराखंड को सौंपी अलकनंदा होटल की चाबी

हरिद्वार : उत्तर प्रदेश के भागीरथी पर्यटक आवास गृह का बटन दबाकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लोकार्पण किया। इस दौरान हरिद्वार में भागीरथी पर्यटक आवास गृह का लोकार्पण करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलकनंदा होटल की चाबी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को सौंपी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में कहा कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में परिसंपत्तियों के बंटवारे की समस्या का आपसी बातचीत व संवाद के जरिये समाधान किया है। दूसरी सरकारों को निशाने पर रखते हुए उन्होंने कहा कि 21 वर्षों से यह मामला संवाद के जरिये नहीं सुलझाया गया, इसे उलझा कर रखा गया। यहां तक कि उच्चतम न्यायालय ने इस मामले को लेकर 2017 में बेहद तीखी टिप्पणी की थी।

कहा कि उत्तराखंड पर्यटन मामले में विश्व मानचित्र में अग्रणी राज्य है। यहां स्प्रिचुअल टूरिज्म के साथ-साथ इको टूरिज्म की अनंत संभावनाएं है। उन्होंने नए भारत के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विजन की सराहना करते हुए कहा देश के विकास में करना है और नए भारत का निर्माण करना है तो हमें आधुनिक विकास के साथ-साथ आध्यात्मिक और शैक्षणिक विकास की अवधारणा विजन का अनुपालन करना होगा

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जब हम नए भारत के विकास की बात करते हैं तो उसका मतलब भारत के केवल भौतिक विकास से नहीं है, नए भारत के विकास का मतलब भारत के आध्यात्मिक विकास से भी है। कहा कि बचपन से हम यह नारा सुनते और लगाते आ रहे थे कि रामलला हम आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संयोजन व संचालन में यह न सिर्फ साकार हुआ, बल्कि अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण क्षेत्र पूरे विश्व में अध्यात्मिक केंद्र के रूप में परिलक्षित हो रहा है, निर्मित हो रहा है। सीएम ने भारत माला सड़क निर्माण प्रोजेक्ट को देश और उत्तराखंड के विकास के लिए महत्वपूर्ण बताया।

हरिद्वार सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने योगी आदित्यनाथ और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को बड़े भाई और छोटे भाई की संज्ञा दी। कहा कि बड़े भाई और छोटे भाई का यह समन्वय दोनों राज्यों खासकर उत्तराखंड की तरक्की के लिए नए मार्ग और नए आयाम खोलेगा। उन्होंने धर्म नगरी हरिद्वार में पावन गंगा के तट पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मिलन को भागीरथी और अलकनंदा का संगम बताया।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि उत्तराखंड सरकार पांडव के स्वर्गारोहण यात्रा मार्ग को धार्मिक पर्यटन के रूप में विकसित कर रही है। यहां भारतीय सनातन धर्म संस्कृति परंपरा का विश्व के लिए उत्कृष्ट उदाहरण के साथ-साथ प्रसिद्ध धार्मिक स्थल होगा। उत्तराखंड सरकार नाथ संप्रदाय के दृष्टिकोण को देखते हुए नाथ सर्किट का भी निर्माण कर रही है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नाथ संप्रदाय से आते हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!