उत्तराखंड: बाबा रामदेव पर बड़ा एक्शन, 14 दवाओं के लाइसेंस सस्पेंड

देहरादून: बाबा रामदेव के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की कार्रवाई के बाद से ही बाबा सवालों के घरे में हैं। अब उत्तराखंड के आयुर्वेद एवं यूनानी विभाग ने बाबा रामदेव की दिव्य फार्मेसी और पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। विभाग के राज्य औषधि अनुज्ञापन अधिकारी ने दिव्य फार्मेसी व पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड की 14 दवाओं (औषधियों) के लाइसेंस निलंबित करते हुए निर्माण पर रोक लगा दी है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के अध्यक्ष डा.आरवी अशोकन ने कहा कि बाबा रामदेव ने उस समय हद पार कर दी जब उन्होंने दावा किया कि उनके पास कोविड-19 का उपचार है। उन्होंने आधुनिक चिकित्सा पद्धति को मूर्खतापूर्ण और दिवालिया विज्ञान कहकर बदनाम किया था।

भ्रामक विज्ञापनों को लेकर पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट द्वारा रामदेव और उनकी औषधि कंपनी पतंजलि आयुर्वेद को फटकार लगाए जाने के बाद आइएमए की यह पहली टिप्पणी है। सुप्रीम कोर्ट में 30 अप्रैल को मामले की सुनवाई होने वाली है।

सुप्रीम कोर्ट IMA की 2022 की एक याचिका पर सुनवाई कर रही है, जिसमें कोविड रोधी टीकाकरण अभियान और चिकित्सा की आधुनिक पद्धतियों को बदनाम करने का अभियान चलाने का आरोप लगाया गया है।कोर्ट ने पिछले महीने रामदेव, उनके सहयोगी आचार्य बालकृष्ण और पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड से भ्रामक विज्ञापनों पर उसके आदेशों का पालन नहीं करने के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगने को कहा था।

शेयर करें !
posted on : April 30, 2024 11:11 am