उत्तरकाशी: यमुनोत्री-गंगोत्री के लिए SOP जारी, इन नियमों का करना होगा पालन

उत्तरकाशी: यात्रा जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है। कुछ राहत भी नजर आ रही है। पुलिस और प्रशासन ने यात्रा से पहले जो तैयारियां करनी थी, उनको पूरा करने में कहीं ना कहीं कमी जरूर रह गई थी, जिसका असर यात्रा के शुरुआती दौर में नजर आया। हालांकि, अब व्यवस्थाएं कुछ दुरुस्त नजर आ रही हैं। यमुनोत्री-गंगोत्री में नई व्यवस्थाओं का असर भी दिख रहा है।

उत्तरकाशी पुलिस ने यात्रा को लेकर SOP जारी की है। जिसके तहत अब रात आठ बजे के बाद किसी भी वाहन को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम नहीं जाने दिया जाएगा। रात 11 बजे के बाद यात्रा प्रतिबंधित रहेगी। वहीं, शाम पांच बजे बाद कोई भी यात्री जानकीचट्टी से यमुनोत्री धाम दर्शन के लिए नहीं जा पाएगा।

पुलिस SOP

1. डामटा, नौगांव, बडकोट, दोबाटा, खरादी व पालीगाड से श्री यमुनोत्री धाम जाने वाले वाहनों को रात्रि 8 बजे के बाद आगे नहीं जाने दिया जायेगा।
2. नगुण, उत्तरकाशी मुख्यालय, हीना, भटवाड़ी व गंगनानी से श्री गंगोत्री धाम जाने वाले वाहनों को रात्रि 8 बजे के बाद आगे जाने नहीं दिया जाएगा।
3. यमुनोत्री मार्ग पर पालीगाड़ से जानकीचट्टी के मध्य (25 किमी) संकरे क्षेत्र में जाम की स्थिति से निपटने के लिए बडे वाहनों के लिए गेट सिस्टम लागू है, बडे वाहनों को रोक-रोक कर भेजा जायेगा। छोटे वाहन चलते रहेंगे।
4. गंगोत्री मार्ग पर संकरे स्थानों पर जाम की स्थिति से निपटने के लिए गंगनानी से ड़बरानी (5 किलोमीटर), सुक्खी टॉप से झाला (7 किलोमीटर), तथा हर्षिल से लंका (14 किलोमीटर) वन वे किया गया है।
5. श्री यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग पर सुबह 4 बजे से यात्रा का आवागमन शुरु हो जायेगा।
6. यमुनोत्री के अंतिम पड़ाव जानकीचट्टी से श्रद्धालुओं को शाम 5 बजे के बाद यमुनोत्री धाम दर्शन हेतु नहीं भेजा जायेगा। इसके बाद डंडी-कंडी व घोडा-खच्चर भी प्रतिबंधित रहेगें।
7. यमुनोत्री पैदल मार्ग पर सुचारु आवागम के लिए डंडी-कंडी व घोड़ा-खच्चर के लिये रोटेशन की व्यवस्था लागू है, भीड़ बढ़ने की स्थिति में वैकल्पिक मार्ग (फोरेस्ट मार्ग) का प्रयोग किया जायेगा।
8. धामों पर रात्रि 8-8.30 बजे मां गंगा व यमुना जी की आरती के उपरांत कोई भी श्रद्धालु अनावश्यक मंदिर परिसर में नहीं रहेगा।
9. यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर डामटा (120), दोबाटा (50), खरादी (250), पालीगाड (500) जबकि गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर गंगनानी (250), सोनगाड (200), हर्षिल (100), लंका (50) वाहनों के लिए होल्डिंग स्थान बनाये गये हैं, साथ ही सूचित करने हेतु लाउड हेलर की व्यवस्था की गयी है। उक्त स्थानों पर श्रद्वालुओं के लिए उचित व्यवस्थाएं उपलब्ध हैं।
10. श्री गंगोत्री धाम जाने वाले श्रद्वालुओं के वाहनों को सूर्यास्त (सांय 7ः15 बजे) के बाद सोनगाड़ होल्डिंग प्वाईंट में रोका नहीं जाएगा। किसी भी होल्डिंग स्थान पर वाहनों को 2 घंटे से अधिक नहीं रोका जाएगा। धाम जाने वाले श्रद्वालुओं की सुविधानुसार होल्डिंग स्थानों को कस्बों तथा बाजार के निकट सुगम स्थान पर बनाया गया है।
11. आपाताकालीन स्थिति में यात्रियों/श्रद्वालुओं को प्राथमिकता के आधार पर आकस्मिक सेवा स्थल तक जाने दिया जाएगा।
12. प्रत्येक दिन प्रातः 05रू00 बजे से यातायात व्यवस्था का आवागमन सुचारू रूप से संचालित किया जाएगा।
13. श्रद्वालुओं के सहायार्थ उत्तरकाशी पुलिस के हेल्प लाईन नं0 7455939993, 9410515153 व 112 जारी किए गये हैं।

शेयर करें !
posted on : May 21, 2024 11:14 am