posted on : अक्टूबर 4, 2022 10:23 am
शेयर करें !

उत्तराखंड से बड़ी खबर: UKSSSC ने रद्द कर दी ये भर्ती परीक्षा, एक-दो, नहीं पूरे 400 प्रश्न थे गलत

देहरादून : सरकार भले ही रोजगार देने के दावे कर रही हो। लेकिन, USSSC की ओर से कराई जाने वाली शायद ही कोई ऐसी परीक्षा हो, जिसमें विवाद ना हुआ हो। आयोग की ओर से कराई जाने वाली कई परीक्षाओं के परिणामों पर सवाल खड़े हो चुके हैं।

 

कई मामले हाईकोर्ट में लंबित भी चल रहे हैं। परीक्षाओं में नकल और धांधली के आरोप आम बात हो गए हैं। बावजूद इसके सरकार कोई सख्त कदम नहीं उठा रही।

 

 

अब और परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। इस परीक्षा में कोई एक दो नहीं बल्कि पूरे 400 प्रश्नों के जवाब गलत पाए गए। इससे पहले भी कई परीक्षाओं में इस तरह की दिक्कतें सामने आ चुके हैं जिनमें प्रश्नों के जवाब गलत दिए गए थे। UKSSC ने पिछले साल सितंबर में कराई गई सहायक लेखाकार भर्ती परीक्षा को रद्द कर दिया है।

 

परीक्षा के बाद हजारों अभ्यर्थियों ने पूछे गए प्रश्नों को लेकर सवाल उठाए थे और आयोग से शिकायत भी की। अभ्यर्थियों के बढ़ते विरोध को देखते हुए आयोग ने विशेषज्ञों से प्रश्नपत्रों का परीक्षण कराया। जिसकी रिपोर्ट आने के बाद परीक्षा को रद्द कर दिया गया।

UKSSC नेे सहायक समीक्षा अधिकारी (लेखा), लेखाकार, सहायक लेखाकार, कैशियर, लेखा परीक्षक, कार्यालय सहायक तृतीय (लेखा) के 662 पदों पर भर्ती के लिए पांच फरवरी 2021 को विज्ञप्ति जारी की थी। रिक्त पदों के सापेक्ष करीब 23 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था।

आवेदन की जांच के बाद इस परीक्षा के लिए 18,640 अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र जारी किए गए थे। आनलाइन परीक्षा के लिए देहरादून में छह, नैनीताल में चार, हरिद्वार में तीन, पौड़ी गढ़वाल में दो व चमोली, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, चंपावत व बागेश्वर में एक-एक परीक्षा केंद्र बनाए गए। आनलाइन परीक्षा 12 से 14 सितंबर 2021 के बीच छह पालियों में कराई गई। तीन दिन चली परीक्षा में 9341 अभ्यर्थी शामिल हुए।

आयोग के सचिव संतोष बडोनी ने बताया कि परीक्षा के बाद अभ्यर्थियों ने विरोध शुरू कर दिया था। अभ्यर्थियों ने परीक्षा की सभी पालियों के प्रश्न पत्रों की जांच की मांग उठाई थी।

जिसके बाद आयोग ने विशेषज्ञों की राय लेने का निर्णय लिया। विशेषज्ञों ने सभी प्रश्न पत्रों का परीक्षण किया और कई तरह की त्रुटियों को रेखांकित कर दो दिन पहले आयोग को अपनी रिपोर्ट सौंपी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!