उत्तराखंड: हनोल ‘जागड़ा’ के लिए शिमला और रोहड़ू से भी चलेंगी बसें

  • शिमला, रोडू से हनोल जागड़ा के लिए हिमाचल परिवहन करेगा बसों का संचालन

  • महाराज के अनुरोध पर हिमाचल के परिवहन मंत्री ने दी स्वीकृति.

देहरादून : कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की पहल रंग लाई है। हनोल महासू मंदिर में लगने वाले जांगड़ा मेले के लिए हिमाचल से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए हिमाचल के उप मुख्यमंत्री और परिवहन मंत्री ने बसों के संचालन की अनुमति दे दी है। सतपाल महाराज ने शिमला और रोडू से हनोल जागड़ा मेले के लिए बसों के संचालन खेल पत्र लिखा था।

हनोल स्थित महासू मंदिर में 18 और 19 सितम्बर को देव दर्शनों के लिए जागरा (देवनायणी) राजकीय मेला पर्व पर सीमावर्ती राज्य हिमाचल से बड़ी संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं के आवागमन के लिए हिमाचल के उप मुख्यमंत्री और परिवहन मंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज से हुई बातचीत के पश्चात शिमला से हनोल और रोडू से हनोल तक के लिए बसों के संचालन की स्वीकृति दे दी है।

कैबिनेट मंत्री महाराज के निर्देश पर श्रद्धालुओं के सुविधाजनक आवागमन के लिए उत्तराखंड परिवहन निगम भी हरिद्वार से प्रातः 7ः30 बजे से हरिद्वार-देहरादून-विकास नगर वाया चकराता से हनोल तक, देहरादून से प्रातः 6ः00 से से देहरादून-मिनस-हनोल तक, देहरादून से प्रातः 7ः30 बजे रोड़वेज बस मसूरी-चकराता-हनोल तक चलेगी।

इसके अलावा शिमला से हनोल, नैरवा-अटाल-हनोल, देहरादून विकास नगर-डामटा-बड़कोट-पुरोला-मोरी-हनोल, उत्तरकाशी से हनोल तक बसों के संचालन की व्यवस्था की गई है। इतना ही नहीं जागरे के समय टैक्सियों के रेट तय करने के साथ साथ एक सहिया से दसऊ जाने के लिए भी बस एवं टैक्सियों की व्यवस्था रहेगी। 18-19 सितम्बर को जागरे के दिन बस सेवा त्यूनी से हनोल, हनोल से त्यूनी तक चलेगी।

हनोल स्थित महासू मंदिर में 18 एवं 19 सितम्बर को देव दर्शनों के लिए जागरा (देवनायणी) राजकीय मेला पर्व पर चार विकासखंडों चकराता, कालसी, मोरी और पुरोला के 1 से लेकर 12 वीं कक्षा तक सभी शासकीय अशासकीय एवं निजी विद्यालयों में 18 सितम्बर को एक दिन का सरकारी अवकाश भी घोषित किया गया है।

शेयर करें !
posted on : September 17, 2023 4:37 pm
<
error: Content is protected !!