posted on : दिसंबर 10, 2022 12:31 pm
शेयर करें !

उत्तराखंड : डंडे से पीटकर हत्या, यहां का है मामला

हल्द्वानी : हल्द्वानी  में हत्या का मामला सामने आया है। बरेली रोड पर मोतीनगर स्थित मोतिहारी कुष्ठ आश्रम में कुष्ठ रोगी ने दूसरे रोगी को डंडे से पीटकर मार डाला। इससे आश्रम में सनसनी फैल गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। ओखलकांडा के धारी स्थित कुंडल गांव निवासी नैनराम (50) कुष्ठ रोग से ग्रस्त होने की वजह से करीब 20 साल से मोतीहारी कुष्ठ आश्रम में रह रहे थे। उनके साथ पिछले करीब 8-10 साल से ऊधमसिंह नगर का खटीमा निवासी सिकंदर राणा भी आश्रम में रह रहा था।

पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में पता चला कि मंगलवार रात नैनराम खाना खाकर अपने कमरे में सो गए थे। उसी दौरान आरोपी गाली-गलौज करने लगा और दोनों में कहासुनी हो गई। झगड़ा करते हुए दोनों सिकंदर के कमरे के पास पहुंच गए जहां उसने मोटे डंडे से नैनराम के सिर पर वार कर अधमरा कर दिया। आश्रम संचालक मोहन सिंह ने बताया कि रात करीब 8:30 बजे नैनराम और सिकंदर के बीच कहासुनी और गाली-गलौज की आवाज सुनाई दी। जब आश्रम के अन्य लोग वहां पहुंचे तब तक सिकंदर नैनराम को गंभीर रूप से घायल कर चुका था।

उत्तराखंड: शिक्षा विभाग का प्लान, 5 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती!

इसके बाद उन्होंने एंबुलेंस और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को सुशीला तिवारी अस्पताल भेजा लेकिन नैनराम की रास्ते में ही मौत हो गई। इसके बाद पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। देर रात पुलिस ने आश्रम से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। बुधवार को पुलिस ने उससे पूछताछ की। मृतक की रिश्तेदार देवकी की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। बृहस्पतिवार को पुलिस आरोपी को कोर्ट में पेश करेगी।

बातचीत के दौरान नैनराम की साली देवकी देवी ने बताया कि उन्हें भी कुष्ठ रोग है इसलिए वह भी कुछ साल पहले यहां आ गई थीं और यहीं रहने लगी थीं। बताया कि आरोपी सिकंदर शराब का आदी था। शराब के बाद गाली-गलौज करना और मारपीट की धमकी देना उसका काम था। नैनराम ने कई बार उससे कहा था कि अगर उसकी यह हरकतें बंद नहीं होती हैं तो वह पुलिस से शिकायत करेगा। इस पर आरोपी उसे कई बार जान से मारने की धमकी दे चुका था। वहीं आरोपी अन्य रोगियों को भी धमकाते हुए कहता था कि तुम सभी को जान से मारकर चला जाऊंगा। इस पर लोगों ने उसके रहने पर भी आपत्ति जताई थी।

हरिराम ने बताया कि करीब 15 दिन पहले उनकी बड़ी बहन कमला देवी की कैंसर से मौत हो गई थी। चार दिन पहले नैनराम कुंडल गांव गए थे। बहन के परिवार से मिलकर मंगलवार को ही वापस हल्द्वानी लौटे थे। पुलिस पड़ताल में पता चला कि आरोपी ने नैनराम पर कपड़े धोने वाली थपकी और मोटे डंडे से वार किया था। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ने अपने घर के ही बाहर पड़ी लकड़ियों के गट्ठर पर खून से सनी थपकी फेंक दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया तो डंडा भी साथ ले गई लेकिन खून से सनी थपकी वहीं छोड़ गई।

जब यह बात एसपी सिटी के संज्ञान में आई तब पुलिस थपकी उठाकर लाई। आरोपी के कमरे में शराब के खाली पव्वों की भरमार थी। उसके कमरे में गैस सिलिंडर के पास रखी मेज के नीचे बड़ी संख्या में खाली पव्वे पड़े थे। साथ ही कुछ रोटियां रखी थी। बताया जा रहा है कि वारदात के समय उसकी पत्नी रोटी बना रही थी। वारदात के बाद से पत्नी गायब है।

error: Content is protected !!