posted on : फरवरी 30, 2022 9:55 am
शेयर करें !

उत्तराखंड: STF इस JE भर्ती की जुटा रही जानकारी, दूसरी में गड़बड़ी के हाथ लेग अहम सबूत!

देहरादून: उत्तराखंड इन दिनों देशभर में चर्चा के केंद्र में है। लगातार भर्ती घोटालों का खुलासा हो रहा है। एक के बाद एक नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में अब जांच एजेंसी STF ने भी अपनी रफ्तार और दायरा बढ़ा दिया है। एक तरफ पेपर लीक मामले में लगातार गिरफ्तारियां की जा रही हैं। दो और भर्तियों की जांच ने तेजी पकड़ ली है।

उत्तराखंड : UP की कंपनी ने कर दिया बर्बाद UKSSSC पेपर लीक मामले में एक और गिरफ्तार 

स्नातक स्तरीय भर्ती (UKSSSC) पेपर लीक कांड के बाद जांच के दौरान तीन और भर्तियां भी संदेह के घेरे में आ गई हैं। माना जा रहा है कि इन भर्तियों की भी जांच हो सकती है। इनमें उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड (UJVNL) में JE भर्ती मामले में एसटीएफ जानकारी जुटा रही। वहीं, ऑनलाइन आधर पर हुई वन दरोगा (forest guard) भर्ती में गड़बड़ी के सबूत हाथ लगने की बात भी सामने आई है। फिलहाल आधिकारिक रूप से इसकी पुष्टी नहीं की गई है। लेकिन, सूत्र और मीडिया रिपोर्ट के अनुसार STF को कुछ अहम सुराग मिल चुके हैं।

उत्तराखंड: UKSSSC पेपर लीक मामले में और गिरफ्तार CTET में भी कराई थी नकल इस बार बच नहीं पाया

इसके अलावा वन आरक्षी भर्ती मामले में STF पुराने मुकदमों की पड़ताल कर रही है। जल्द ही जांच के आदेश भी हो सकते हैं। 22 जुलाई से शुरू हुई स्नातक स्तरीय भर्ती परीक्षा की जांच में एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं। इस गड़बड़ झाले के केंद्र में सिर्फ एक कंपनी RMS टेक्नो सॉल्यूशन आई है। अब तक की जांच में छह कर्मियों और इसके मालिक राजेश चौहान को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस मामले में अब इसी कंपनी की भूमिका सामने आ रही है।

उत्तराखंड भर्ती घोटाला : BJP के बाद अब कांग्रेस की लिस्ट वायरल काश हमें भी ऐसे ही नौकरी मिल जाती! 

पूरी गड़बड़ी के पीछे कंपनी का हाथ सामने आ रहा है। ऐसे में राज्य में अब तक कंपनी जो भी परीक्षाएं कराई हैं, सभी संदेश के घेरे में हैं। इनमें UJVNL में JE भर्ती प्रक्रिया पर भी सवाल उठ रहे हैं। इसी भर्ती में एक पति-पत्नी पहले से ही सवालों और चर्चाओं में हैं। जानकारी के अनुसार STF ने UJVNL से कुछ दस्तावेज भी मांगे हैं। इसके अलावा वन दरोगा भर्ती प्रक्रिया में भी प्राथमिक गड़बड़ी का पता चल चुका है। अब इस मामले में STF की एक टीम तेजी से आगे बढ़ रही है। बहुत जल्द उसका भी खुलासा हो सकता है।

error: Content is protected !!