posted on : फरवरी 11, 2022 11:33 am
शेयर करें !

उत्तराखंड : महिलाओं के लिए खास पहल, सवालों के जवाब दो और गिफ्ट पाओ

देहरादून : स्वास्थ्य विभाग की ओर से महिलाओं के लिए एक ख़ास योजना तैयार की गयी है। इस योजना के अनुसार गर्भवती और पांच साल से कम आयु वाले बच्चे की माताओं को मातृ-शिशु सुरक्षा कार्ड (MCP) के बारे में जागरूक किया जाएगा। पहले चरण में पहली बार पांच जिलों में MCP जागरूकता कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। जागरूक करने के बाद मेडिकल कॉलेज की टीम महिलाओं का इंटरव्यू लेगी, जिसमें MCP कार्ड में दी गयी जानकारियों से जुड़े सवालों का सही जवाब देने वाली महिलाओं को विभाग की ओर से एक हजार का गिफ्ट वाउचर दिया जाएगा।

इसलिए दिया जाता है MCP कार्ड 

विभाग की ओर से गर्भवती और शिशु के जन्म के बाद महिला को MCP कार्ड दिया जाता है। इस कार्ड में बच्चों के टीकाकरण, बच्चे की आयु के अनुसार वजन, लंबाई, नवजात शिशु की देखरेख, शिशु में निमोनिया समेत अन्य बीमारियों की रोकथाम, गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व देखभाल के अलावा सरकार की जननी सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री, मातृ वंदना योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में मिलने वाले लाभों की जानकारी दी जाती है लेकिन महिलाओं को कार्ड में दी गई स्वास्थ्य संबंधित जानकारी नहीं होती है।

उत्तराखंड : युवाओं के सपनों पर फिरा पानी, इस वजह से नहीं कर पाए आवेदन

पहली बार MCP कार्ड जागरूकता कार्यक्रम

पहली बार स्वास्थ्य विभाग की ओर से एमसीपी कार्ड जागरूकता कार्यक्रम का खाका तैयार किया गया। पहले चरण में देहरादून, नैनीताल, ऊधमसिंहनगर, हरिद्वार और पौड़ी जिले में इस कार्यक्रम को चलाया जाएगा। जागरूकता के लिए देहरादून शहर के 12 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में कार्यरत समन्वयक, एएनएम, आशा फैसिलिटेटर को प्रशिक्षण दिया जाता है। जो विशेष रूप से मलिन बस्तियों में जाकर महिलाओं को एमसीपी कार्ड के प्रति जागरूक करेंगे।

40 महिलाओं को दिए जाएंगे गिफ्ट वाउचर 

विभाग की टीम गर्भवती और शिशु को जन्म देने वाली महिलाओं को एमसीपी कार्ड के बारे में जागरूक करेगी। जिसके बाद राजकीय मेडिकल कॉलेज की टीम महिलाओं का साक्षात्कार लेगी। जिसमें एमसीपी कार्ड से संबंधित सवाल पूछे जाएंगे। सही जवाब देने वाली महिलाओं को एक हजार का गिफ्ट वाउचर दिया जाएगा। 10 हजार की आबादी पर एक साल में 40 महिलाओं को गिफ्ट वाउचर देने का लक्ष्य रखा है।

error: Content is protected !!