posted on : जनवरी 13, 2022 9:59 am
शेयर करें !

उत्तराखंड ब्रेकिंग: अब तक नहीं चल पाया लापता SDM का पता, तलाश जारी

चम्पावत: चम्पावत SDM सदर अनिल चन्याल लापता हैं। उनका फोन बंद आ रहा है, जिससे लोकेशन नहीं मिल पा रही है। SP देवेंद्र पिंचा ने बताया कि अब तक उनका कुछ पता नहीं चल पाया है। उन्होंने बताया कि लगातार प्रयास किया जा रहा है। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, SDM रविवार की शाम से ही अपने घर से लापता हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने शनिवार की सुबह उन्होंने अपने कार्यालय में पंत जयंती मनाई थी और शाम को अपने कुक रमेश राम को छुट्टी देकर घर भेज दिया था। रविवार की दोपहर बाद उन्होंने अपने गनर मोहन भट्ट को भी घर भेज दिया। SDM सदर के लापता होने का पता सोमवार को चला।

चालक और गनर वाहन लेकर पूल्ड आवास स्थित उनके कमरे में पहुंचे तो वे वहां नहीं मिले। दोपहर तक उनका कहीं सुराग नहीं लगा तो कार्यालय में तैनात PRD जवान ने कोतवाली में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी है। घटना की सूचना के बाद छुट्टी में गए एसपी देवेंद्र पींचा भी लौट आए हैं। एसपी मंगलवार को अपने कार्यालय पहुंचेंगे।

SDM के लापता होने की खबर आग की तहर फैल गई है। इस घटना से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। कोतवाल योगेश उपाध्याय ने बताया कि कुक की तहरीर पर गुमशुदगी दर्ज करने के बाद उनकी खोजबीन शुरू कर दी है। आसपास के जंगलों में कांबिंग की जा रही है।

SDM का सरकारी फोन कमरे में ही पड़ा हुआ मिला है, जबकि निजी फोन बंद है। अंतिम लोकेशन चंपावत में ही मिली है। पुलिस ने उनके कुक, गनर और विभाग के कर्मचारियों को पूछताछ के लिए बुलाया है। SDM सदर अनिल चन्याल मानसिक रूप से काफी परेशान दिख रहे थे।

9 सितंबर को उन्होंने अपनी फेसबुक पर पोस्ट भी अपडेट की थी। सूत्रों का कहना है की उन्होंने अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र भी दिया था, लेकिन अवकाश न मिलने से काफी परेशान थे।

SDM हेमंत वर्मा ने बताया कि एसडीम की तलाश के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है कि राजस्व, पुलिस, SOG की टीम अपने अपने स्तर से एसडीएम की तलाश करने में जुटी हुई है। SDM सदर के लापता होने की जानकारी सुबह ही मिली है।

गुमशुदगी दर्ज कर तलाश की जा रही है। हो सकता है कि वह कुछ मानसिक रूप से परेशान हों तो कहीं घूमने चले गए हों। जल्दी मिल जाएंगे। और छुट्टी का कोई इशू नहीं है। उन्हें 15 दिन की छुट्टी के लिए एप्लिकेशन दी है।

error: Content is protected !!