उत्तराखंड : मदरसों में हिंदू बच्चों को दी जा रही इस्लामी शिक्षा, NCPCR का बड़ा खुलासा

उत्तराखंड से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई  है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने खुलासा किया है कि उत्तराखंड में कई ऐसे मदरसे मिले हैं जहां पर हिंदू बच्चों को इस्लाम धर्म की शिक्षा दी जा रही थी। जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग अब उत्तराखंड के सभी जिलाधिकारियों को दिल्ली तलब करने की तैयारी में है। आइए जानते हैं ये पूरा मामला।

India TV की रिपोर्ट के अनुसार  राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने बच्चों के अधिकारों को लेकर उत्तराखंड के 14 विभागों के साथ समीक्षा बैठक की थी। इसके साथ ही आयोग की टीम ने देहरादून के कई मदरसों का भी औचक निरीक्षण किया था। यहां उन्हें बड़े स्तर पर अनियमितताएं देखीं। आयोग को देहरादून में कुछ ऐसे मदरसे भी मिले हैं, जहां दूसरे राज्यों से बच्चे लाकर रखे गए थे।

राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि शिक्षा विभाग और अल्पसंख्यक आयोग की मिलीभगत के कारण उत्तराखंड में 400 से ज्यादा मदरसे अवैध रूप से चल रहे हैं। उन्होंने बताया कि आयोग ने जो भी अनियमितताएं मिलीं उनपर अपना रुख साफ कर दिया है।  इन मदरसों पर आयोग की तरफ से कार्रवाई की जाएगी।

NCPCR के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने बताया है कि राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग उत्तराखंड के सभी जिलाधिकारियों को दिल्ली तलब करने की तैयारी में है। आयोग की टीम ने ये भी दावा किया है कि जब उन्होंने औचक निरीक्षण किया तो इस दौरान उन्हें ऐसे मदरसे भी मिले हैं जिनमें हिंदू बच्चों को इस्लाम धर्म की शिक्षा दी जा रही थी।

इस पर पांच जन्य 2023 में भी एक रिपोर्ट प्रकाशित कर चुका है। अब एक बार फिर से रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें यह बड़ा खुलासा किया गया है। इस पर सरकार क्या कर रही है, इसका जवाब फिलहाल सरकार की ओर से नहीं आया है।

शेयर करें !
posted on : May 14, 2024 4:10 pm
error: Content is protected !!